आधार (Aadhar)  नंबर की जगह वर्चुअल आईडी (VID )नंबर करें इस्तेमाल 

Aadhar नंबर की जगह VID नंबर करें इस्तेमाल

आधार (Aadhar)  नंबर की जगह वर्चुअल आईडी (VID )नंबर करें इस्तेमाल 

यूआइडीएआइ के मुताबिक, यूजर अपनी वीआइडी खुद ही जनरेट कर सकेंगे।

 भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआइडीएआई) ने  वर्चुअल आईडी (वीआईडी) को प्रायोगिक स्तर पर शुरू कर दिया है। प्राधिकरण का कहना है कि विभिन्न सेवा प्रदाता जल्द ही आधार संख्या की जगह इस आईडी को स्वीकार करना शुरू कर देंगे। निजता संबंधी चिंताओं को दूर करने के लिए यूआइडीएआइ ने जनवरी में वर्चुअल आइडी की अवधारणा पेश करने का एलान किया था।

सरल शब्दों में कहें तो इस नए फीचर से आधार धारक को प्रमाणीकरण और सत्यापन के लिए 12 अंकों का अपना आधार नंबर बताने की बजाय सिर्फ 16 अंकों का वर्चुअल आइडी (वीआइडी) नंबर ही बताना होगा। यूआइडीएआइ के मुताबिक, यूजर अपनी वीआइडी खुद ही जनरेट कर सकेंगे।Aadhar नंबर की जगह VID नंबर करें इस्तेमाल

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने ट्वीटर पर जानकारी दी है कि शुरू में इस आईडी का उपयोग आधार में पते को ऑनलाइन अपडेट करने के लिए किया जा सकता है। प्राधिकरण का कहना है, जल्द ही, सेवा प्रदाता आधार संख्या की जगह पर वीआईडी को स्वीकार करना शुरू करेंगे, फिलहाल, इसका इस्तेमाल आधार में पते को अपडेट करने के लिए किया जा सकता है।

UIDAI launches Virtual ID.

Generate your VID from:  https://resident.uidai.gov.in/web/resident/vidgeneration 

प्राधिकरण ने उपयोक्ताओं से आग्रह किया है कि वे अपनी वीआईडी बना लें। यूआईडीएआई ने यह कदम उपयोक्ताओं से जुड़ी जानकारी यानी डेटा की सुरक्षा को लेकर जारी चिंताओं के बीच उठाया है। आधार वर्चुअल आइडी एक तरह का अस्थायी नंबर है। इस नंबर को आधार का क्लोन कहा जाए तो यह गलत नहीं होगा। इसमें कुछ ही विवरण होंगे। अगर किसी को कहीं अपने आधार का विवरण देना है तो वह आधार नंबर की जगह वीआइडी नंबर दे सकता है।

आधार वर्चुअल आईडी एक तरह का टेंपररी नंबर है

यह 16 अंकों का नंबर है। अगर इसे आधार का क्लोन कहा जाए तो यह गलत नहीं होगा। इसमें कुछ ही डिटेल होंगी, यूआईएडीआई यूजर्स को हर आधार का एक वर्चुअल आईडी तैयार करने का मौका देगी। अगर किसी को कहीं अपने आधार की डिटेल देनी है तो वो 12 अंकों के आधार नंबर की जगह 16 अंकों का वर्चुअल आईडी दे सकता है।

आधार वर्चुअल आइडी को सिर्फ यूआइडीएआई के पोर्टल से ही जनरेट किया जा सकता है। यह एक डिजिटल आइडी होगी। आधार धारक इसे कई बार जनरेट कर सकते हैं। वीआइडी की वैधता सिर्फ एक दिन के लिए ही होगी। इसका मतलब हुआ कि एक दिन बाद आधार धारक इस वर्चुअल आधार आइडी को फिर से जनरेट कर सकता है।

Tags:

Advertisements
वर्चुअल आईडी क्या है,ई आधार डाउनलोड,आधार कार्ड चेक,आधार कार्ड देखे नाम से,आधार कार्ड में सुधार,
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *