गर्भावस्था में अमरूद खाने के फायदे | Amrood Ke Fayde In Pregnancy

गर्भावस्था में अमरूद खाने के फायदे | Amrood Ke Fayde In Pregnancy

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अपने साथ-साथ गर्भ में पलने वाले बच्चे की सेहत का भी ख्याल रखना होता है। इसलिए, उन्हें कुछ खास खाने वाली चीजें के सेवन से परहेज करने की सलाह दी जाती है। वहीं, कुछ ऐसे भी खाने वाली चीजें हैं, जिनका सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए जरूरी माना गया है। इन्हीं में से एक अमरूद है।

Video 

आइए, जान लेते हैं कि यह गर्भावस्था में कितना सुरक्षित है।

गर्भावस्था के दौरान अमरूद सुरक्षित ही नहीं है, बल्कि यह इस दौरान शरीर में कई जरूरी पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने का काम करता है, बशर्ते इसका सेवन संतुलित मात्रा में किया जाए। सेब ,संतरा, अंगूर, जामुन और अनानास जैसे फलों के साथ डॉक्टर गर्भवती महिलाओं को अमरूद खाने की भी सलाह देते हैं ।

इसकी अधिक मात्रा कुछ दुष्परिणाम भी प्रदर्शित कर सकती हैं। ऐसे में आप प्रतिदिन एक से दो अमरुद मतलब 100 से 125 ग्राम से अधिक मात्रा में इसे नहीं लिया जाना चाहिए।

अगर आपके मन में यह सवाल उठ रहा है कि इसे प्रेगनेंसी की किस अवस्था में खाना चाहिए, तो बता दें कि इसे गर्भावस्था की किसी भी अवस्था में खाया जा सकता है। बस आपको इसकी ली जाने वाली संतुलित मात्रा पर विशेष ध्यान देना होगा,
Advertisements

आइए, जानते हैं कि गर्भावस्था में अमरुद के क्या फायदे हैं ?

  1. प्रतिरोधक क्षमता में सुधार :- अमरूद में भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है। यह शरीर में उपापचय(Metabolism) की प्रक्रिया को सुधारता है। साथ ही प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी सहायता करता है। इससे गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कई बीमारियों और संक्रमण से बचने की ताकत मिलती है ।dcgyan

  2. ब्लड प्रेशर को करता है नियंत्रित :- गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाओं में ब्लड प्रेशर बढ़ने की समस्या देखी जाती है। ऐसे में अमरूद का सेवन ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में सहायक माना जाता है। कारण यह है कि इसमें पोटैशियम और घुलनशील फाइबर की मात्रा होती है, जो बढ़ते ब्लड प्रेशर को सामान्य करने में मदद करती है ।

  3. ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में :- अमरूद में हाइपोग्लाइसेमिक (ब्लड शुगर कम करने वाला) प्रभाव पाया जाता है। इस कारण यह गर्भावस्था के दौरान होने वाली शुगर की समस्या से राहत दिलाने में सहायक माना जा सकता है ।madhumeh,diabetes,

  4. कब्ज में लाभदायक :- अमरूद डाइटरी फाइबर का अच्छा स्रोत है, जो कब्ज की समस्या को दूर करने में सहायक माना जाता है। आमतौर पर गर्भवती महिलाओं में कब्ज की समस्या देखी जाती है। इसलिए, इस दौरान अमरूद का सेवन आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है ।dcgyan

  5. पाचन में सुधार :- अगर आपका पाचन तंत्र खराब चल रहा है तो अमरूद का सेवन आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है । अमरूद का सेवन संपूर्ण पाचन तंत्र को मजबूत करने में मदद करता है।
    Advertisements

  6. कैंसर के खतरे को करता है कम :- विशेषज्ञों के मुताबिक अमरूद में कई ऐसे तत्व भी मौजूद होते हैं, जिनके कारण यह कैंसर के खिलाफ लड़ने की अद्भुत क्षमता प्रदर्शित करते हैं । ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि इसका सेवन कैंसर के जोखिमों को काफी हद तक कम करने में मदद कर सकता है।dcgyan

  7. आंखों की रोशनी बढ़ाए :- विटामिन-सी एंटीऑक्सीडेंट गुण से युक्त होता है, जो आंखों के लिए उपयोगी माना जाता है। चूंकि, यह अमरूद में अच्छी मात्रा में उपलब्ध होता है, इस कारण इसे आंखों की रोशनी बढ़ाने में भी सहायक माना जा सकता है ।

  8. भ्रूण के विकास में करता है मदद :- अन्य आवश्यक पोषक तत्वों के साथ अमरूद में फोलिक एसिड भी मौजूद होता है। फोलिक एसिड को फोलिट और विटामिन-बी भी कहा जाता है । मां के साथ भ्रूण के विकास के लिए भी फोलिक एसिड जरूरी माना जाता है । इस कारण हम कह सकते हैं कि भ्रूण के विकास के लिए अमरूद को उपयोग किया जा सकता है।dcgyan

  9. बैक्टीरियल इन्फेक्शन से करता है बचाव :- एक शोध में पाया गया कि अमरूद में एंटीमाइक्रोबियल प्रभाव भी पाए जाते हैं, जो सांस, मुंह, दांत और त्वचा के साथ मलेरिया से संबंधित संक्रमण को दूर करने में सहायक साबित होते हैं ।sir dard

  10. दिमाग को करे शांत :- अमरूद मैग्नीशियम का अच्छा स्रोत है । कुछ मेडिकल रिसर्च में पाया गया है कि मैग्नीशियम तनाव को कम करता है और दिमाग को शांत करके खुशी का संचार करने में मदद करता है ।

  11. कोलेस्ट्रोल को करे नियंत्रित :- अमरूद डाइटरी फाइबर का अच्छा स्रोत है। डाइटरी फाइबर शरीर में खराब कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करता है। साथ ही अच्छे कोलेस्ट्रोल के स्तर में सुधार लाता है ।dcgyan

  12. एनीमिया से करे बचाव :- गर्भावस्था के दौरान अक्सर महिलाओं में आयरन की कमी के कारण एनीमिया का जोखिम बढ़ जाता है। वहीं, अमरूद को आयरन का अच्छा स्रोत माना गया है। इस कारण यह एनीमिया से बचाव में भी सहायक माना जाता है ।sir dard

  13. मानसिक समस्याओं को रखे दूर :- अमरूद में विटामिन बी-3 और बी-6 भी मौजूद होता है, जो गर्भवती महिलाओं के लिए जरूरी माना गया है । क्योंकि ये मानसिक समस्याओं जैसे :- चिंता, तनाव और अवसाद को दूर रखने में मदद करते हैं ।
    Advertisements

  14. मॉर्निंग सिकनेस में पहुंचाए आराम :- अमरूद में विटामिन बी-6 की भी मात्रा पाई जाती है । इसे मॉर्निंग सिकनेस के लिए एक बेहतर विकल्प माना गया है । क्योंकि गर्भावस्था के दौरान होने वाली यह समस्या अमरूद खाने से काफी हद तक कम हो सकती है। और अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें।

लेख देखने के लिए आपका धन्यवाद , आपको यह जानकारी पसन्द आयी है तो लाइक करें और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें |

Tags

pink guava juice during pregnancy,side effects of guava during pregnancy,guava during pregnancy,guava is safe to eat during pregnancy,guava benefits during pregnancy,benefits of guava in pregnancy,guava benefits in pregnancy,क्या प्रेगनेंसी में अमरूद खाना चाहिए,गर्भावस्था में क्या अमरूद खाना चाहिए,क्या गर्भावस्था में अमरूद फायदेमंद है,प्रेगनेंसी के दौरान अमरुद के बेहतरीन फायदे,प्रेगनेंसी में अमरूद खाना चाहिए या नहीं,प्रेगनेंसी में अमरूद खाने के फायदे,गर्भावस्था में अमरुद,

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *