गर्भावस्था में गाजर क्यों खाना ? Why eat carrot in pregnancy?

गर्भावस्था में गाजर क्यों खाना ? Why eat carrot in pregnancy?

गर्भावस्था में गाजर खाना आखिर क्यों हैं फायदेमंद?

गर्भावस्था में गाजर खाने के फायदे

Video

गर्भावस्था में खान -पान पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है विशेषकर शुरू के तीन महीने में , गर्भावस्था में महिलाओं को तरह-तरह की चीजें खाने की इच्छा होती है.  गर्भावस्था के दौरान महिला को कई तरह के खाद्य पदार्थों के सेवन की सलाह दी जाती है,  इन्हीं में गाजर का सेवन भी शामिल है। कई गर्भवती महिलाओं में संशय रहता है। जैसे-

 क्या गर्भवस्था में गाजर (carrot in pregnancy) खाना सुरक्षित है?

प्रेगनेंसी में गाजर और गाजर जूस के क्या  फायदे है ?

गर्भवस्था के दौरान एक दिन में कितने गाजर खाना उचित है?

प्रेगनेंसी में एक दिन में कितने गिलास गाजर का जूस पीना चाहिए?

प्रेगनेंसी में गाजर और गाजर के जूस का सेवन कब करना चाहिए?

क्या प्रेगनेंसी में गाजर(carrot in pregnancy) खाने के कुछ नुकसान हैं?

गर्भवस्था में गाजर खाते वक्त  किन बातों का ध्यान रखना चाहिए

आहार में गाजर को कैसे शामिल करैं ?

तो इस लेख  में आपको इन सभी संकाओ का समाधान हो जायेगा

 चलिए, सबसे पहले यह जान लेते हैं कि क्या गर्भावस्था में गाजर खाना सुरक्षित है या नहीं?

हां ,गर्भावस्था में गाजर खाना सुरक्षित है , गाजर में लगभग लगभग हर प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो सेहत को दुरुस्त रखने के लिए गर्भवती महिला को पोषण देने के लिए अत्यधिक आवश्यक भी होते हैं और कुछ तत्व ऐसे भी पाए जाते हैं जो फायदा नहीं देते हैं क्योंकि गाजर में लगभग सभी कुछ पाया जाता है, गाजर के अंदर भरपूर मात्रा में विटामिन मिनरल्स खनिज पाए जाते हैं यह ऊर्जा का अच्छा स्रोत है कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है साथ ही साथ  प्रोटीन, फाइबर आहार, folates, नियासिन, पैंटोथैनिक एसिड, राइबोफ्लेविन, थायमिन, विटामिन A, विटामिन सी,विटामिन K, इलेक्ट्रोलाइट्स, सोडियम, पोटैशियम, कैल्शियम,तांबा, लोहा, मैगनीशियम, मैंगनीज, फास्फोरस, सेलेनियम, जस्ता, कैरोटीन-ß इत्यादि बहुत सारी चीजें इसके अंदर पाई जाती और इसके अंदर कोलेस्ट्रॉल बिल्कुल भी नहीं होता है. ध्यान रहे कि इनका सेवन सीमित मात्रा में किया जाए।

garbhaavastha mein gajar kyon khaana

Advertisements

आइए, अब जानते हैं कि प्रेगनेंसी में गाजर खाने और गाजर जूस के बेमिसाल फायदे

  1. एनर्जी के लिए : गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला को उसके भ्रूण, प्लेसेंटा और टिश्यू के लिए पर्याप्त एनर्जी की जरूरत होती है। अगर पर्याप्त ऊर्जा प्राप्त न हो, तो इससे गर्भवती और उसके होने वाले शिशु को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं । ऐसे में पर्याप्त ऊर्जा की पूर्ति के लिए गाजर जूस का सेवन किया जा सकता है, क्योंकि इसमें कई तरह के पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं, जो गर्भवती और उनके होने वाले शिशु के लिए फायदेमंद हो सकते हैं।dcgyan

  2. डायबिटीज़ के लिए (Good for Diabetic patients) :- हम सभी जानते है आजकल बहुत से लोग डायबिटीज़ की समस्या से परेशान रहते है। ऐसे में आपको गाजर के जूस का सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट टाइप-II मधुमेह को कम करने मदद मिलता है। तथा इसमें पाया जाने वाला बीटा कैरोटीन टाइप -2 डायबटीज़ के खतरे को कम करने सहायक होता है।madhumeh,diabetes,

  3. विटामिन सी की पूर्ति के लिए :विटामिन सी होने के कारण यह मां के इम्यून सिस्टम यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाने का काम करता है। इसके सेवन से गर्भवती महिला और भ्रूण दोनों में ही बीमारियों का जोखिम कम हो सकता है और वो सेहतमंद हो सकते हैं ।Signs of Labor प्रसव के संकेत (लक्षण और उपाय)

  4. त्वचा के लिए फ़ायदेमंद (Good for skin) : गाजर का जूस गर्भवती महिला की त्वचा के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होता है। इसमें विटामिन-सी और विटामिन-ई प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो त्वचा को निखारने में मदद करता है। इसीलिए गर्भवती महिला को गाजर के जूस का सेवन करना चाहिए। जिससे गर्भवती महिला की त्वचा की सुंदरता बनी रहे और त्वचा संबंधी समस्या को कम करें।dcgyan

  5. पानी की संतुलित मात्रा को बनाए रखने के लिए : गर्भावस्था में किसी कीमत पर शरीर में पानी की कमी नहीं होनी चाहिए. इस दौरान ये आवश्यक है कि गर्भवती महिला पर्याप्त मात्रा में पानी पीती रहे. ऐसे में गाजर का सेवन करने से शरीर को कुछ मात्रा में पानी तो मिलता है ही, साथ ही यह फ्लुइड में सोडियम और पोटैशियम की मात्रा को भी संतुलित बनाए रखता है.

  6. फोलिक एसिड के लिए :गर्भवती महिला के लिए फोलिक एसिड जरूरी होता है, क्योंकि फोलिक एसिड मां के स्वास्थ्य और भ्रूण के विकास में सहायक भूमिका निभाता है। ये रेड ब्लड सेल्स के निर्माण के लिए उपयोगी होता है. साथ ही ये नई कोशिकाओं (सेल्स) के निर्माण को भी प्रोत्साहित करता है|  इससे शिशु को न्यूरल ट्यूब जैसे जन्म दोष (शिशु के मस्तिष्क और रीढ़ से जुड़े दोष) से बचाया जा सकता है। ऐसे में अगर पर्याप्त मात्रा में फोलिक एसिड चाहिए, तो गाजर जूस का सेवन लाभकारी हो सकता है। गाजर जूस को फोलिक एसिड का अच्छा स्रोत माना जाता है। ऐसे में गर्भवती महिला के लिए गाजर का जूस अच्छा विकल्प हो सकता है ।dcgyan

  7. कैल्शियम की पूर्ति के लिए :गर्भावस्था के दौरान कैल्शियम गर्भवती के लिए जरूरी है। इससे गर्भवती महिला और उसके होने वाले शिशु का कई तरह के बीमारियों से बचाव हो सकता है। साथ ही कैल्शियम से हड्डियों की भी समस्या का जोखिम कम हो सकता है । ऐसे में गर्भावस्था में कैल्शियम की पूर्ति के लिए गाजर जूस का सेवन किया जा सकता है, क्योंकि इसमें कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा मौजूद होती है ।

  8. तनाव दूर करने में सहायक : गाजर खाने से तनाव दूर होता है. दरअसल इसमें पोटैशियम की पर्याप्त मात्रा होती है जिसके चलते ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है. ऐसे में गर्भवती महिलाओं को तनाव से दूर रखने के लिए उन्हें गाजर खाने की सलाह दी जाती है |

  9. आयरन की पूर्ति के लिए :आयरन की जरूरत को पूरा करने के लिए भी गाजर जूस के फायदे देखे जा सकते हैं। गर्भावस्था के दौरान आयरन की आवश्यकता बढ़ जाती है, क्योंकि भ्रूण को सही विकास के लिए आयरन की जरूरत होती है, जो उसे मां से प्राप्त होती है । इसलिए, गर्भवती महिला पर्याप्त आयरन पाने के लिए गाजर जूस का सेवन कर सकती है, क्योंकि गाजर में आयरन मौजूद होता है ।Cholesterol

  10. कोलेस्ट्रोल कम करने में (Decreases cholesterol) : हम सभी जानते है की आजकल अधिकतर लोग कोलेस्ट्रोल के समस्या से परेशान रहते है। क्योंकि जब हमारे शरीर मे ख़राब कोलेस्ट्रोल या बैड कोलेस्ट्रोल की मात्रा अधिक हो जाती है, तो हृदय संबंधी समस्या बढ़ जाती है। ऐसे में गर्भवती महिला को अपने रोज़ाना के आहार में गाजर के जूस को शामिल करना चाहिए। इसमें मौजूद पोटेशियम कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में मदद करता है और हृदय रोग और स्ट्रोक के खतरे को कम करता है।dcgyan

  11. एनीमिया को ठीक करने में : एनीमिया एक ऐसी मेडिकल कंडीशन है, जिसमें आपका खून शरीर में ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा नहीं पहुंचा पाता है । एक शोध के अनुसार, अगर गर्भवती महिला आयरन के साथ-साथ विटामिन सी का भी सेवन करें, तो एनीमिया का जोखिम काफी हद तक कम हो सकता है । ऐसे में गर्भवती महिला अपनी डाइट में गाजर के जूस को शामिल कर सकती हैं, क्योंकि इसमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन-सी मौजूद होता है, जो लाभकारी साबित हो सकता है।

  12. जिंक की पूर्ति के लिए : गाजर जूस में जिंक की भी मात्रा पाई जाती है। गर्भावस्था के दौरान जिंक भी गर्भवती महिला और उसके होने वाले शिशु को स्वस्थ रहने में अहम भूमिका निभाता है।dcgyan

  13. इम्यून सिस्टम को बढ़ाने के लिए :गर्भावस्था के दौरान गाजर का सेवन आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकता है, गर्भावस्था वह समय है. जब आपको सुरक्षित रहने की आवश्यकता होती है. गाजर का नियमित सेवन ब्रोंकाइटिस जैसी समस्याओं को दूर रखता है.

  14. कैंसर का खतरा कम करे (Decrease risk of cancer):- कैंसर तब विकसित होता है जब असामान्य कोशिकाएं बनती हैं गाजर का जूस हमारे शरीर में कैंसर होने से बचाता है। इसमें पाए जाने वाले एंटीओक्सिडेंट कोशिका क्षति होने से रोकता है। इसके सेवन से ब्रेस्ट कैंसर, फेफड़ों के कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है।dcgyan

  15. स्वस्थ मस्तिष्क के लिए (Good mental health):- गाजर के रस में बीटा-कैरोटीन पाया जाता है। जो उम्र के साथ स्मृति की समस्या को कम करता है। इसमें मौजूद एंटीओक्सिडेंट मस्तिष्क के तनाव को कम करने में मदद करता है। इसके रोज़ाना सेवन से स्मृति में सुधार करता है और गर्भवती महिला के मस्तिष्क को स्वस्थ रखता है।dast

  16. कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए : गाजर में पर्याप्त मात्रा में डाइटरी फाइबर्स पाए जाते हैं, जिससे कब्ज की समस्या नहीं होती है. गर्भावस्था में कब्ज की समस्या हो जाना एक आम समस्या है. है

  17. माता के दूध में गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए :- अगर माता प्रेग्नेंसी के समय गाजर का सेवन करती है उस के दूध में गुणवत्ता बनी रहती है. महिला को गाजर का सेवन प्रेगनेंसी के बाद भी आवश्यकतानुसार करना चाहिए. जो माताए स्तनपान कराती हैं, उन्हें अपने दैनिक आहार में पोषक तत्व युक्त गाजर जरुर शामिल करनी चाहिए. गाजर के रस में निहित फाइटोकेमिकल्स शरीर के उचित कार्य को बढ़ावा देते हैं. इन्हें महत्वपूर्ण विटामिन माना जाता है. जिसे आपको दैनिक गर्भावस्था आहार में जोड़ा जाना चाहिए.

Advertisements

आइए, अब जानते हैं कि एक दिन में गर्भवती महिला को कितने गाजर का सेवन करना चाहिए

गर्भास्वस्था के दौरान आप एक दिन में दो गाजर का सेवन कर सकती हैं । वजन में  75 से 100 ग्राम गाजर का सेवन कर सकती हैं

आइए, अब जानते हैं कि एक दिन में कितने गिलास गाजर का जूस पीना चाहिए।

गर्भास्वस्था के दौरान आप एक दिन में एक से दो गाजर का जूस यानिकि करीब 150 से 180ml  मिली लीटर गाजर का जूस का सेवन कर सकती हैं । इस बारे में आप एक बार डॉक्टर से भी राय ले सकती हैं, क्योंकि हर किसी की गर्भावस्था एक जैसी नहीं होती है। इसी कारण से सभी की खाने की मात्रा की जरूरत अलग होती हैं।16 sanskar,16 samskaras,16 sanskar in English,16 sanskar in hindi Wikipedia,16 sanskar wiki,16 sanskar of hindu,16 sanskar trick,16 sanskar book,16 sanskar book in hindi free download,bhartiya 16 sanskar,16 sanskar of Brahmins,16 sanskar in hindu culture,16 sanskar in indian culture,16 sanskar in hindu culture in hindi,16 sanskar ke naam hindi,16 sanskar ke name,jivan ke 16 sanskar,hindu dharma ke 16 sanskar,manushya ke 16 sanskar,bhartiya sanskriti ke 16 sanskar,hindu ke 16 sanskar in hindi,jeevan ke 16 sanskar,16 sanskar in hindi,16 sanskar in ayurveda,16 sanskar in human life,16 sanskar in hindu mythology in hindi,16 sanskar kya hai,16 sanskar kaun se hai,16 sanskar kya h,16 sanskar kon se h,hindu dharm k 16 sanskar,hindu k 16 sanskar,hindu ke 16 sanskar,16 sanskar k naam,16 sanskaro k nam,16 sanskar list,16 sanskar list in hindi,16 sanskar of life,16 sanskar name list,16 sanskar meaning,16 sanskar mantra,manav ke 16 sanskar,manusmriti 16 sanskar,16 sanskar hindi m,16 sanskar pregnancy,16 sanskar during pregnancy,16 sanskar in hindu religion,16 sanskar in hindu religion in hindi,16 samskaras of Hinduism,16 samskaras pdf,16 samskaras in hindi,16 samskaras in human life,16 samskaras in hindu mythology,16 sanskrit vowels,16 sanskrit,16 sanskar in sanskrit,what is 16 sanskar,

आइए, अब जानते हैं कि प्रेगनेंसी में गाजर और गाजर जूस का सेवन कब करना चाहिए।

गर्भावस्था के दौरान फोलेट( फोलिक एसिड) आवश्यक होता है। फोलेट युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन गर्भवती महिला गर्भावस्था के शुरुआत से ही कर सकती है। इस स्थिति में गर्भवती महिला गाजर या गाजर के जूस, जो फोलेट युक्त खाद्य पदार्थों में से एक है, उसका सेवन गर्भावस्था के शुरुआत से ही कर सकती है ।

Advertisements

आइए, अब जानते हैं कि प्रेगनेंसी में गाजर खाने से क्या नुकसान हो सकते हैं।

गर्भावस्था के दौरान गाजर खाने के कई लाभ हो सकते हैं, लेकिन कुछ स्थितियों में इसके सेवन में सावधानी बरतनी भी जरूरी है।

  1. गाजर में विटामिन-ई की मात्रा भी पाई जाती है, जिसका गर्भावस्था के दौरान अधिक सेवन करने से जन्म लेने वाले बच्चे के वजन पर असर पड़ सकता है।

  2. गाजर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक पाई जाती है, इसलिए इसके लगातार सेवन से ये आपके मोटापे का कारण बन सकता है।

  3. कुछ लोगो को गाजर से एलर्जी हो सकती है, उन्हें गाजर के सेवन से बचना चाहिए।

  4. स्तनपान करा रही महिलाओं को इसका सीमित सेवन करना चाहिए, क्योंकि इसके ज्यादा सेवन से स्तन-दूध का स्वाद बदल सकता है।

Advertisements

आइए, अब जानते हैं कि आहार में गाजर को कैसे शामिल करैं ?

  1. गाजर जैसे खाया जाता है वैसे खा सकती हैं

  2. गाजर की सब्जी बनाकर भी खाई जा सकती है

  3. आप गाजर के जूस का सेवन कर सकते हैं।

  4.  फलों के सलाद में गाजर को मिक्स कर सकते हैं।

  5. आप चाहे तो नाश्ते या खाना खाने के बाद गाजर खा सकते हैं।

Advertisements

गाजर अपने पौष्टिक मूल्य की वजह से सभी सब्जियों में सबसे अधिक बहुमुखी है, जो कि रस के रूप में भी उतना ही उपयुक्त है.हालांकि यह निश्चित रूप से अच्छा स्वाद देता है, आपके शरीर में इसका शुद्ध प्रभाव गर्भावस्था में बहुत से स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है. इसका संतुलित मात्रा में अगर सेवन किया जाए, तो यह गुणों का खजाना हो सकता है। हम आशा करते हैं इस लेख  से आपको गर्भावस्था के दौरान गाजर खाने से जुड़े सवालों के जवाब मिल चुके होंगे। अगर अभी भी आपके मन में कोई उलझन है, तो आप उसे कमेंट के जरिए हम तक पहुंचा सकते हैं। चरक आयुर्वेदा के इस लेख  को देखने, शेयर व लाइक करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यबाद ,

Advertisements

Tags

गर्भावस्था में गाजर,Carrots during Pregnancy,pregnancy me carror ka sevan,carrot during pregnancy in hindi,is eating carrot in pregnancy safe,pregnancy me gajar khane ke fayde,pregnancy me gajar ke fayde aur nuksaan,carrot juice during pregnancy,pregnancy me gajar khana chahiye,benefits of carrots during pregnancy,Eating carrot during pregnancy,pregnancy me gajar khane se kya hota hai,pregnancy me gajar ke fayde,pregnancy me gajar ka juice,carrot benefits in hindi,
Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *