गर्भावस्था में पैरों में सूजन के कारण और उसका निवारण

गर्भावस्था में पैरों में सूजन के कारण और उसका निवारण

 

गर्भावस्था के दौरान शरीर का फूलना (सूजन) आम समस्या है। गर्भावस्था में हाथ-पैर और चेहरे पर सूजन आ जाती है। इस दौरान वजन भी बढ़ता है, जिसका सारा भार पैरों पर पड़ता है जिससे पैर और एड़ियां अधिक सूज जाती हैं। लेकिन पैर और एड़ियों की ये सूजन कई बार ज्यादा हो जाती है जिसे बिल्कुल नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

गर्भावस्था में पैरों में सूजन के कारण

गर्भावस्था में सूजन होना सामान्य प्रक्रिया है लेकिन इसके ज्यादा होने पर चिंतित जरूर होना चाहिए। कई बार शरीर में पोषक तत्वों की कमी से , एनिमिया की वजह से , प्रोटीन की कमी और उच्च रक्तचाप से, ज्यादा उल्टियों के कारण भी सूजन आ जाती है। बढ़ते बच्चे के वजन का नसों पर प्रभाव पड़ता है जिससे ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित होता है और शरीर में सूजन आ जाती है। सूजन का एक अन्य कारन यह भी है कि कई औरतें अखाद्य पदार्थ जैसे मिट्टी आदि खाती हैं जो नहीं खाने चाहिए

 

सूजन दूर करने के लिए उपाय

ताजे फल सब्ज़ियों का अधिक प्रयोग करें

गर्भावस्था के दौरान दिन में एक घंटा जरूर आराम करें।

ऑफिस में काम करने वाली महिलाएं आरामदायक कुर्सी में बैठें और पैर को स्टूल के ऊपर रखें।

पैर लटकाकर बैठने से बचें।

अगर आपका वजन 50 किलो है तो रोजाना 65 ग्राम प्रोटीन लें।

अगर अधिक बीपी की समस्या है तो नमक, लाल मिर्च , रिफाइंड आयल कम लें।

अपने खाने में 1200 मिलीग्राम कैल्शियम लें।

रोजाना सुबह पार्क में नंगे पैर टहलें। साथ ही गर्भावस्था में बायीं करवट लेकर सोएं। इससे शरीर में रक्त का बहाव सही रहता है।

गर्भावस्था के दौरान नियमित रूप से जांच करायें और अगर कोई समस्या है तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क कीजिए।

 

Tags:-

गर्भावस्था में पैरों में सूजन ,गर्भावस्था के 9 वें महीने के दौरान पैरों में सूजन,गर्भावस्था के 8 वें महीने के दौरान पैरों में सूजन,कैसे गर्भावस्था के दौरान सूजन को कम करने,गर्भावस्था के दौरान पैरों में ऐंठन,गर्भावस्था सूजन पैर के दौरान ,गर्भावस्था में पैरों में दर्द,गर्भावस्था के दौरान सूजन कम करने के उपाय,गर्भावस्था के दौरान बाएं पैर में दर्द
Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *