गुरुवार आरती – ऊँ जय बृहस्पति देवा

गुरुवार आरती - ऊँ जय बृहस्पति देवा

गुरुवार आरती – ऊँ जय बृहस्पति देवा

 

 

गुरुवार आरती

ऊँ जय बृहस्पति देवा, जय बृहस्पति देवा।

छिन छिन भोग लगाऊँ, कदली फल मेवा॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा॥

 

तुम पूर्ण परमात्मा, तुम अन्तर्यामी।

जगतपिता जगदीश्वर, तुम सबके स्वामी॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा॥

 

चरणामृत निज निर्मल, सब पातक हर्ता।

सकल मनोरथ दायक, कृपा करो भर्ता॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा॥

Advertisements

तन, मन, धन अर्पण कर, जो जन शरण पड़े।

प्रभु प्रकट तब होकर, आकर द्वार खड़े॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा॥

 

दीनदयाल दयानिधि, भक्तन हितकारी।

पाप दोष सब हर्ता, भव बन्धन हारी॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा॥

 

सकल मनोरथ दायक, सब संशय तारो।

विषय विकार मिटाओ, सन्तन सुखकारी॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा॥

 

जो कोई आरती तेरी प्रेम सहित गावे।

जेष्टानन्द बन्द सो सो निश्चय पावे॥

ऊँ जय बृहस्पति देवा॥

Advertisements

Tags:

om jai brihaspati deva aarti mp3 download,om jai brihaspati deva,om jai brihaspati deva aarti,om jai brihaspati deva aarti mp3,om jai brihaspati deva mp3,om jai brihaspati deva aarti download,om jai brihaspati deva aarti mp3 free download,om jai brihaspati deva mp3 download,om jai brihaspati deva lyrics,om jai brihaspati deva aarti lyrics,om jai brihaspati deva aarti in hindi, ऊँ जय बृहस्पति देवा, गुरुवार आरती
Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *