ग्लूकोमा  , Glaucoma

ग्लूकोमा

 

ग्लूकोमा  Glaucoma

आंख का एक रोग होता है जिससे दृश्टि की हानि या अंधता हो सकती है। ग्लूकोमा होने पर, आंख में द्रव की मात्रा बढ़ जाती है जिससे आंख के पृश्ठ भाग पर दबाव पड़ता है यह दबाव दृश्टि तंत्रिका को नुकसान पहुंचाता है और दृश्टि की हानि का कारण बनता है। प्रायः पहले पार्ष्व दृश्टि प्रभावित होती है, और इसके बाद सामने की दृश्टि पर प्रभाव पड़ता है।

ग्लूकोमा के प्रकार   Types of Glaucoma

ग्लूकोमा के दो मुख्य प्रकार हैं:

  1. ओपन-एंगल ग्लूकोमा के लक्षण प्रायः तब तक प्रकट नहीं होते जब तक कि यह उन्नत अवस्था में न पहुंच जाए। समय के साथ दबाव धीरे-धीरे दृश्टि तंत्रिका को नुकसान पहुंचाता जाता है। यह दोनों आंखों को प्रभावित करता है लेकिन हो सकता है कि आपको पहले एक आंख के लक्षणों का पता चले।

  2. एंगल-क्लोज़र ग्लूकोमा में दबाव बहुत तेजी से बढ़ता है और लक्षण अचानक प्रकट होते हैं। लगभग एक दिन के अंदर स्थाई रूप से दृश्टिहीनता हो सकती है इसलिए तुरंत चिकित्सकीय देखभाल प्राप्त करना बहुत आवष्यक होता है।

Advertisements

Advertisements

 

जोखिम वाले कारक  Risk Factors

आपको ग्लूकोमा होने का खतरा है यदिः

  1. आपके परिवार के किसी सदस्य को ग्लूकोमा हो

  2. आप को डायबिटीज़, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग या हाइपोथायरॉयडिज़्म हो

  3. आपको निकट दृश्टिदोश हो

  4. आप को आंख में कभी चोट लगी हो, आंख की कुछ खास षल्यक्रियाएं हुई हों या लंबे समय से आंखों में जलन रहती हो

  5. आप लंबे समय से स्टेरॉयड ले रहे होंऽ आप 60 वर्श से अधिक आयु के हों

  6. आप अफ्रीकी-अमेरिकी या मेक्सिकन-अमेरिकी हों

  7. एषियाई-अमेरिकी मूल के हों – इससे आपको एंगल-क्लोज़र ग्लूकोमा होने का जोखिम बढ़ जाता है
    Advertisements

 

लक्षण  Signs

हो सकता है कि दृश्टिहीनता होने तक ग्लूकोमा के कोई लक्षण प्रकट न हों। आपके अन्य लक्षणों

में निम्न हो सकते हैं:

  1. धुंधला नजर आना

  2. प्रकाष के इर्द-गिर्द प्रभामंडल दिखना

  3. परिधिगत या पार्ष्व दृश्टि खो देना

  4. सीमित वृत्तीय दृश्टि

  5. लाल आंखें

  6. आंखों में बहुत तेज दर्द होना

  7. मतली और उल्टी आना

Advertisements

उपचार   Treatment

आपका नेत्र चिकित्सक निम्नलिखित की जांच के लिए आपका परीक्षण कर सकता हैः

  • आंख का दबाव

  • दृश्टि तंत्रिका

  • दृश्टि

ग्लूकोमा का इलाज नहीं किया जा सकता और इससे हुए नुकसान को ठीक नहीं किया जा सकता है। लेकिन उपचार से, आंख पर दबाव कम किया जा सकता है और आगे हो सकने वाली दृश्टि की हानि को रोका जा सकता है। ग्लूकोमा के आरंभिक उपचार के लिए आंख में दवा डालना सबसे सामान्य है। अन्य उपचारों में मुंह से दवाई लेना, लेज़र उपचार या षल्यक्रिया कराना षामिल हो सकता है। अगर आपको ग्लूकोमा हो, तो जीवन भर आपको इसका उपचार कराना होता है।

Advertisements

अपनी देखभाल  Your Care

ग्लूकोमा को रोकने का कोई प्रमाणित तरीका नहीं है। यदि आंख में बढ़ते दबाव का पता चल जाए और आरंभ में ही इसका उपचार कर दिया जाए, तो इससे दृश्टि की हानि को कम किया जा सकता है और अंधता से बचा जा सकता है।

  1. 40 वर्श की आयु के बाद कम से कम पांच वर्श में एक बार अपनी आंखों की जांच कराएं और ग्लूकोमा के लिए परीक्षण कराएं। यदि आपके आंख का दबाव बढ़ने लगे, तो आपको और भी जल्दी-जल्दी आंखों का परीक्षण कराने की आवष्यकता होती है।

  2. अपने आंखों के दबाव को बढ़ने से रोकने के लिए यह करें:

  • तनाव का सामना करने के तरीके तलाषें।

  • नियमित रूप से व्यायाम करें।

  • कैफीन का सीमित प्रयोग करें।

  • फलों और सब्जियों का स्वास्थ्यप्रद आहार लें।

  • चोट से बचने के लिए काम या खेल-कूद के दौरान आंख की सुरक्षा करने वाले उपकरण पहनें।

  1. अपनी डायबिटीज़, उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल और हृदय रोग को नियंत्रित रखें।

  2. ग्लूकोमा के उपचार के लिए प्रचारित किए जाने वाले हर्बल निदानों का प्रयोग न करें। इनकी प्रभाविता प्रमाणित नहीं है और इनसे उचित उपचार प्राप्त करने में विलंब हो सकता है।

यदि आपके कोई सवाल या चिंताएं हो तो अपने डॉक्टर या नर्स से बात करें।

Talk to your doctor or nurse if you have any questions or concerns.

 

Tags:

glaucoma treatment,glaucoma causes,glaucoma definition,glaucoma cure,glaucoma signs and symptoms,glaucoma prevention,how to prevent glaucoma,glaucoma wiki,glaucoma treatments,causes of eye pain,glaucoma surgery,glaucoma cure,types of glaucoma,glaucoma signs and symptoms,glaucoma meaning in hindi,glaucoma prevention,glaucoma wiki,glaucoma diagnosis,glaucoma hereditary,is glaucoma hereditary,glaucoma laser surgery,what is glaucoma in hindi,causes of diabetic retinopathy,is glaucoma treatable,glaucoma diabetes,glaucoma in children,glaucoma and diabetes,open angle glaucoma symptoms,

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *