जीते भी लकड़ी मरते भी लकड़ी भजन लिरिक्स

जीते भी लकड़ी मरते भी लकड़ी भजन लिरिक्स | Jeete Bhee Lakadee Marate Bhee Lakadee  Bhajan Lyrics in Hindi

Mp3 Audio

Advertisements
 

************ भजन लिरिक्स **************

जीते भी लकड़ी मरते भी लकड़ी,

देख तमाशा लकड़ी का,

क्या जीवन क्या मरण कबीरा,

खेल रचाया लकड़ी का।।

 

जिसमे तेरा जनम हुआ,

वो पलंग बना था लकड़ी का,

माता तुम्हारी लोरी गाए,

वो पलना था लकड़ी का,

जीते भी लकड़ी मरते भी लकडी,

देख तमाशा लकड़ी का।।

 

पड़ने चला जब पाठशाला में,

लेखन पाठी लकड़ी का,

गुरु ने जब जब डर दिखलाया,

वो डंडा था लकड़ी का,

जीते भी लकड़ी मरते भी लकडी,

देख तमाशा लकड़ी का।।

 

जिसमे तेरा ब्याह रचाया,

वो मंडप था लकड़ी का,

जिसपे तेरी शैय्या सजाई,

वो पलंग था लकड़ी का,

जीते भी लकड़ी मरते भी लकडी,

देख तमाशा लकड़ी का।।

 

डोली पालकी और जनाजा,

सबकुछ है ये लकड़ी का,

जनम-मरण के इस मेले में,

है सहारा लकड़ी का,

जीते भी लकड़ी मरते भी लकड़ी,

देख तमाशा लकड़ी का।।

 

उड़ गया पंछी रह गई काया,

बिस्तर बिछाया लकड़ी का,

एक पलक में ख़ाक बनाया,

ढ़ेर था सारा लकड़ी,

जीते भी लकड़ी मरते भी लकड़ी,

देख तमाशा लकड़ी का।।

 

मरते दम तक मिटा नहीं भैया,

झगड़ा झगड़ी लकड़ी का,

राम नाम की रट लगाओ तो,

मिट जाए झगड़ा लकड़ी का,

जीते भी लकड़ी मरते भी लकड़ी,

देख तमाशा लकड़ी का।।

 

क्या राजा क्या रंक मनुष संत,

अंत सहारा लकड़ी का,

कहत कबीरा सुन भई साधु,

ले ले तम्बूरा लकड़ी का,

जीते भी लकड़ी मरते भी लकड़ी,

देख तमाशा लकड़ी का।।

 

जीते भी लकड़ी मरते भी लकड़ी,

देख तमाशा लकड़ी का,

क्या जीवन क्या मरण कबीरा,

खेल रचाया लकड़ी का।।

 Bhajan Video

 

Song : Jete Bhi Lakdi Marte Bhi Lakdi
Album : Dekh Tamasha Lakdi Ka
Singer : Master Rana
Label : Soor Mandir

Advertisements

Tags:-

lyrics, bhajan with lyrics, lyrics bhajan,latest bhajan,2021 bhajan lyrics, bhajan 2021 lyrics,new bhajan lyrics , hindi bhajan video lyrics, Bhajan ,Bhakti Bhajan,dcgyan,dcgyan.com, in,hindi,in hindi,2021,हिंदी में, भजन, लिरिक्स, भजन लिरिक्स, हिंदी, में, हिंदी में भजन लिरिक्स,जीते भी लकड़ी मरते भी लकड़ी भजन लिरिक्स , Jeete Bhee Lakadee Marate Bhee Lakadee  Bhajan Lyrics in Hindi,
Share this:
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments