दौरे पड़ना (Seizures)

दौरे पड़ना ,Seizures,दौरे, पड़ने , कारण,लक्षण,उपचार,

दौरे पड़ना (Seizures),दौरे पड़ने के कारण,लक्षण,उपचार

दौरे दिमाग की प्रवृतियों में अचानक होनेवाले अनियंत्रित परिवर्तन हैं। ये इस बात के प्रतीक हैं कि दिमाग में कोई समस्या मौजूद है। अधिकांश दौरों में हो शो हवास नहीं रहता और शरीर कांपने लगता है। कभी-कभी उसकी वजह से व्यक्ति इस तरह एकटक देखता रहता है जैसे सम्मोहन में हो। अधिकतर दौरे कुछ मिनट से कम समय तक ही रहते हैं और दौरे के बाद व्यक्ति चकराया हुआ हो सकता है। जिस व्यक्ति को बार बार दौरे पड़ते हों उसे एपीलैप्सी नामक रोग हो सकता है।

दौरे पड़ने के कारण(Causes of Seizures)

किसी व्यक्ति को दौरा पड़ने के कारण हमेशा नहीं जाने जा सकते।

Advertisements

Advertisements

इसके कारणों में ये शामिल हो सकते हैं:

  1. एपीलैप्सी

  2. दिमाग में चोट या रसौली

  3. संक्रमण

  4. अल्कोहल या नषीली दवाओं का इस्तेमाल

  5. सोडियम अथवा रक्त शर्करा का कम स्तर

  6. गुर्दा या जिगर का काम न करना

  7. एलजाइमर का रोग

  8. जन्म के दौरान रक्त की कमी या जन्म में किसी चिकित्सीय बीमारी की मौजूदगी

दौरों के लक्षण(Signs of Seizures)

कई बार दौरा पड़ने से पहले कुछ लोगों को चेतावनी स्वरूप लक्षण महसूस होते हैं जिसे औरा कहा जाता है। यह एक, सिरदर्द, दृश्टि में परिवर्तन या आवाजों का़ सुनाई देना या धुएं की तरह की कोई गंध आना हो सकता है।

दौरा पड़ने के दौरान ये हो सकता हैः

Advertisements

  1. शरीर जकड़ जाना, झटके आना या चेहरे की मांस पेषियों के खिंच जाने जैसी नियंत्रित न की जा सकने वाली शारीरिक गतिविधियाँ

  2. एक ही जगह पर टकटकी लगाए देखते रहने का दौरा पड़ना

  3. साँस लेने में तकलीफ

  4. लार टपकाना

  5. मलाशय या मूत्राशय पर नियंत्रण खो देना

  6. चेतना का लोप, स्मृति लोप या संभ्रान्ति

यदि किसी व्यक्ति को इसके पहले कभी कोई दौरा नहीं पड़ा हो या दौरा 5 मिनट से ज्यादा समय तक बना रहता है तो doctor or nurse को फौरन कॉल करें।

दौरा पड़ने के दौरान क्या होता है यह लिखने की कोषिश कीजिए। उसमें तारीख, समय, यह कितनी देर चला और सचमुच क्या हुआ यह शामिल कीजिए।

दौरा पड़ने के बाद व्यक्ति बहुत थका हुआ और संभ्रमित हो जाएगा।

Advertisements

उपचार(Treatment)

उपचार दौरों के कारण पर आधारित होता है:

  1. यदि व्यक्ति को दौरा पहली बार पड़ा है तो चिकित्सक लक्षणों के बारे में पूछेगा और यह देखने के लिए जांच करेगा कि किसी चिकित्सीय बीमारी की वजह से तो यह नहीं हुआ है। रक्त जांच और कम्प्यूटराईज्ड टोमोग्राफी (सीटी) स्कैन, मैग्नेटिक रेजोनेंस इमेजिंग (एमआरआई), इलेक्ट्राएंसीफेलाग्राम (ईईजी) या लंबर पंक्चर जैसे अन्य जांचें की जा सकती हैं।

  2. तेज बुखार या किसी दवा की वजह से पड़ने वाले दौरे का उपचार उस वजह को खत्म करके किया जाता है।

  3. ऐपीलैप्सी से पीड़ित व्यक्ति में, दौरा पड़ना इस बात का संकेत होता है कि उस स्त्री या पुरुष की दवा में बदलाव की जरूरत है।

  4. अधिकांश दौरे दवाओं से संभाले जा सकते हैं। अगर दवाओं से व्यक्ति के दौरों में कमी नहीं आती, तो शल्यक्रिया इसका एक विकल्प हो सकता है।

Advertisements

सुरक्षा संबंधी चिंताएं (Safety Concerns)

  • एपीलैप्सी से पीड़ित किसी व्यक्ति को हमेशा चिकित्सीय चेतावनी देनेवाला कंठहार या कड़ा पहनना चाहिए।

  • सिर की चोटों को बचाने के लिए कुछ लोगों का हेलमेट पहनना आवष्यक है।

  • यदि व्यक्ति को अनियंत्रित दौरे पड़ते हों तो वह वाहन नहीं चला सकता/सकती। नियंत्रित दौरों वाले व्यक्ति को कुछ स्थितियों में वाहन चलाने के लिए एक सीमित लाइसंेस मिलने की संभावना हो सकती है। अधिक जानकारी के लिए चिकित्सक से बात करें।

  • अनियंत्रित दौरों वाले व्यक्तियों को ऐसी गतिविधियों से बचना चाहिए जहां दौरा पड़ने के

  • चलते गंभीर चोट पहुंच सकती हो। उदाहरणों में चढ़ाई करना, मोटर साईकिल चलाना और अकेले तैरना आता है।

आपका कोई सवाल या चिंता हो या सहायक समुदायों (सपोर्ट ग्रुप्स) के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए चिकित्सक या नर्स से बात करें।

Talk to the doctor or nurse if you have any questions or concerns or for information about support groups.

Advertisements

Tags:

Clobazam,गैंग्रीन,एंग्जायटी डिजीज इन हिंदी,बच्चों में दौरे आना,मिर्गी दौरा की दवा,मिर्गी का दवाई,मिर्गी के लिए योगासन,मिर्गी का मंत्र,मिर्गी के लिए जड़ी बूटी,मिर्गी रोग का घरेलू उपचार,मिगी रोग,मानसिक रोग के उपचार,मिर्गी का रामबाण इलाज,मिर्गी के दौरे के लक्षण,हिंदी में जब्ती विकार अर्थ,असामान्य नींद ईईजी बच्चे,मस्तिष्क की बीमारी,दिमागी कमजोरी का इलाज,दिमाग की नसें,मिर्गी रोग का आयुर्वेदिक उपचार,दिमाग की बीमारी के लक्षण,पतंजलि मिर्गी मेडिसिन,

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *