धनुरासन क्या है ? धनुरासन करने का तरीका क्या है? और धनुरासन के स्वास्थ्यवर्धक लाभ क्या हैं?

dhanurasana,yoga,yog,yogasan,

Bow Pose | Dhanurasana in Hindi |How to do Dhanurasana | Benefits of Dhanurasana

धनुरासन क्या है ? धनुरासन करने का तरीका क्या है? और धनुरासन के स्वास्थ्यवर्धक लाभ क्या हैं?

इस आसन का नाम उसे अपनी धनुषी आकार की वजह से मिला है| धनुरासन, पद्म साधना की श्रेणी में से एक आसन है| इसे सही तौर पर धनु-आसन के नाम से जाना जाता है|

धनुरासन = धनुष + (आसन)

धनुरासन करने का तरीका | How to do Dhanurasana

  1. पेट के बल लेटकर, पैरो मे नितंब जितना फासला रखें और दोनों हाथ शरीर के दोनों ओर सीधे रखें|dhanurasana,yog,yoga,yogasana,

  2. घुटनों को मोड़ कर कमर के पास लाएँ और घुटिका को हाथों से पकड़ें|

  3. श्वास भरते हुए छाती को ज़मीन से उपर उठाएँ और पैरों को कमर की ओर खींचें|

  4. चेहरे पर मुस्कान रखते हुए सामने देखिए|

  5. श्वासोश्वास पर ध्यान रखे हुए, आसन में स्थिर रहें, अब आपका शरीर धनुष की तरह कसा हुआ हैl

  6. लम्बी गहरी श्वास लेते हुए, आसन में विश्राम करें|

  7. सावधानी बरतें आसन आपकी क्षमता के अनुसार ही करें, जरूरत से ज्यादा शरीर को ना कसें|

  8. 15 – 20 सैकन्ड बाद, श्वास छोड़ते हुए, पैर और छाती को धीरे धीरे ज़मीन पर वापस लाएँl घुटिका को छोड़ेते हुए विश्राम करें|

धनुरासन के लाभ | Benefits of Dhanurasana

  1. पीठ / रीढ़ की हड्डी और पेट के स्नायु को बल प्रदान करना|

  2. जननांग संतुलित रखना|yoga,yog,yogasana,dhanurasana,

  3. छाती, गर्दन और कंधोँ की जकड़न दूर करना|

  4. हाथ और पेट के स्नायु को पुष्टि देना|

  5. रीढ़ की हड्डी क़ो लचीला बनाना|

  6. तनाव और थकान से निजाद|

  7. मलावरोध तथा मासिक धर्म में सहजता|

  8. गुर्दे के कार्य में सुव्यवस्था|

धनुरासन ना करें |

  1. यदि आप को उच्च या निम्न रक्तदाब, हर्निया, कमर दर्द, सिर दर्द, माइग्रेन (सिर के अर्ध भाग में दर्द) , गर्दन में चोट/क्षति, या हाल ही में पेट का ऑपरेशन हुआ हो, तो आप कृपया धनुरासन ना आजमाएँ |

  2. गर्भवती महिलाएँ धनुरासन का अभ्यास ना करें|

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *