नाशपाती खाने के 15 जबरदस्त फायदे | Health Benefits of Pear in Hindi

pear

 

नाशपाती खाने के 15 जबरदस्त फायदे | Health Benefits of Pear in Hindi

नाशपाती सेब से जुड़ा एक उप-अम्लीय फल है जो पौष्टिक और गुणकारी होने के साथ-साथ स्वादिष्ट भी होता है। अन्य दूसरे फलों की अपेक्षा नाशपाती एक सस्ता फल है। विटामिन ‘सी’ ‘ए’ से भरपूर नाशपाती भारत में यूरोप और ईरान से आई है और धीरे-धीरे यहां भी इसकी खेती होने लगी। भारत में नाशपाती की खेती हिमाचल प्रदेश तथा कश्मीर में की जाती हैं और इनके फलों की गणना संसार के उत्तम फलों में होती है।

नाशपाती के सेवन से न केवल वात, पित्त और कफ के दोष दूर होते हैं बल्कि इससे मस्तिष्क को भी शक्ति मिलती है। यह एक ऐसा फल है जो बच्चों की स्मरण शक्ति भी बढ़ाती और शारीरिक विकास भी होता है। भोजन को पचाने में नाशपाती एक सहायक के रूप में काम करती है साथ इससे लिवर को भी शक्ति मिलती है। 100 ग्राम नाशपाती में 19 मैग्निशियम मिलीग्राम,9 मिलीग्राम सोडियम ,14 मिलीग्राम फॉस्फोरस,लोहा – 2.3 मिलीग्राम ,आयोडीन 1 मिलीग्राम कोबाल्ट, 10 मिलीग्राम , मैंगनीज 65 मिलीग्राम, कॉपर – 120 मिलीग्राम, मोलिब्डेनम – 5 मिलीग्राम फ्लोरीन 10 मिलीग्राम, जिंक – 190 ग्राम, विटामिन ए, विटामिन बी1, बी2, और पोटैशियम भी पाया जाता है। साथ ही भरपूर मात्रा में कैल्शियम भी पाया जाता है।naspati

नाशपाती खरीदते समय ध्यान रखें

नाशपाती खरीदते समय ये ध्यान रखना चाहिए कि यह ज्यादा मुलायम न हो और न ही सख्त। इससे मीठी खुशबू आनी चाहिए। अगर इसमें थोड़े बहुत भूरे धब्बे हैं तो कोई बात नहीं लेकिन अगर ये बहुत ज्यादा पका हो तो न लें। नाशपाती को खरीदने के दो-तीन दिन तक खा लेना चाहिए।

  • हिंदी – नाशपाती

  • संस्कृत नाम – अमृतफलम्

  • English –Pear

  • Scientific Names – Pyrus Communis 

  • Other Name- Nashpatinaspati

नाशपाती के औषधीय गुण

  1. नाशपाती में फाइबर का खजाना होता है. फाइबर की वजह से पाचन तंत्र मजबूत बनता है. इसमें मिलने वाला पैक्टिन नामक तत्व कब्ज के लिए रामबाण उपाय है.

  2. नाशपाती का सेवन करने से त्वचा पर चमक आती है और साथ ही इससे बॉडी को एनर्जी भी मिलती है.

  3. अगर आपको हड्डियों से जुड़ी कोई समस्या है तो नाशपाती का सेवन आपके लिए फायदेमंद रहेगा. इसमें बोरॉन नामक रासायनिक तत्व पाया जाता है जो कैल्शियम लेवल को बनाए रखने में कारगर होता है. नाशपाती में कुछ ऐसे यौगिक पाए जाते हैं जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने का काम करते हैं. बैड कोलेस्ट्रॉल की वजह से शरीर कई बीमारियों का घर बन जाता है.dcgyan

  4. दस्त और पेचिस की समस्या होने पर नाशपाती खाने या उसका रस पीने से बहुत लाभ होता है।

  5. गर्मी होने या अन्य किसी कारण से पेशाब अवरोध होने पर 150 से 200 ग्राम नाशपाती का रस सुबह-शाम पीने से पेशाब का निष्कासन सरलता से होने लगता है।

  6. नाशपाती के रस में काला जीरा और काला नमक डालकर पीने से अधिक प्यास लगने की समस्या दूर होती है।

  7. दस से बीस मिली नाशपाती फल के रस में शक़्क़र डालकर पीने से सिर के दर्द में लाभ होता है |

  8. आयरन का स्रोत होने की वजह से नाशपाती हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाता हैं और एनीमिया से ग्रस्त रोगियों को सुरक्षा प्रदान करता हैं।

  9. अगर भूख नहीं लगती है तो नाशपाती को छीलकर, उसके छोटे-छोटे टुकड़े करके उन्हें हल्का-सा गर्म करके, उन पर भुना हुआ जीरा और काली मिर्च का चूर्ण, काला नमक मिलाकर सेवन करने से बहुत फायदा होता है। भूख भी तेजी से लगती है। पाचन क्रिया भी तीव्र होती है।dcgyan

  10. पकी हुई नाशपाती को कद्दूकस पर कसकर उसमें पोदीने की पिसी हुई पत्तियों को मिलाकर लेप बना लें। चेहरे को हल्के गर्म पानी से साफ करके उंगलियों से चेहरे पर लगाएं। 25 मिनट बाद टिश्यू पेपर से चेहरा साफ करके पहले हल्के गर्म और फिर ठंडे पानी से साफ करें। ऐसा करने से चेहरे की त्वचा में अद्भुत निखार आता है।

  11. एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी होने की वजह से नाशपानी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है। साथ ही कोलेस्ट्रॉहल को कम करने में नाशपाती एक अहम भूमिका निभाता है।

  12. बच्चों को रोजाना नाशपाती खाने या उसका जूस पीने से बहुत लाभ होता है। नाशपाती से दिमाग को शक्ति मिलने से स्मरण शक्ति प्रबल होती है।dcgyan

  13. प्रतिदिन नाशपाती के सेवन से वीर्य में बढ़ोत्तरी होती है। यह हड्डियों के लिए भी फायदेमंद है।

  14. कब्ज होने की स्थिति में स्त्री-पुरूषों को प्रतिदिन नाशपाती खाना चाहिए या उसका रस पीना चाहिए। कब्ज की समस्या शीघ्र नष्ट होती है।

  15. गर्भावस्था में योनि से किसी तरह का स्राव होने लगे तो नाशपाती का सुबह-शाम सेवन करने से बहुत फायदा होता है।naspati

नाशपाती से हानि

  1. सर्दियों में गला बैठने पर नाशपाती का सेवन नहीं करना चाहिए।

  2. बुखार या ज्वर होने की स्थिति में नाशपाती का सेवन नहीं करना चाहिए।

  3. दस्त होने पर रोगी को नाशपाती का सेवन नहीं करना चाहिए।

  4. टायफाइड के रोगी को नाशपाती से दूर रखना चाहिए।

धन्यवाद , www.dcgyan.com को सब्सक्राइब  करना न  भूलें ,

Tags:

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *