फावा बीन्स अर्थात बाकला के फायदे

bakala , faba beans

फावा बीन्स अर्थात बाकला के फायदे

फाबा बीन्स, जिन्हें क्षेत्रीय भाषा में बाकला भी कहा जाता है, एक प्रकार की हरे रंग की फली होती है। इन्हें डिब्बाबंद ताजा या सूखा खरीदा जा सकता है। पोषक तत्व युक्त यह फाबा बीन्स प्रोटीन और आहार फाइबर में उच्च तथा वसा बेहद कम तथा संतृप्त वसा से मुक्त होती है। यह मानव स्वास्थ्य के लिए आवश्यक कई पोषक तत्वों, जैसे विटामिन और खनिज का स्रोत है। इसे जब अपने स्वस्थ आहार का हिस्सा बना नियमित खाया जाता है, तो यह हृदय को फायदा पहुंचाती है और वजन प्रबंधन में भी सहायता करती है।. इसमें फाइबर, कैल्शियम, फॉस्फोरस, सोडियम, फोलेट्स, फोटो न्यूट्रिएंट्स, विटामिन और दूसरे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं.
Advertisements

फाबा बीन्स पोषक तत्वों का एक बेहतरीन श्रोत है। इसमें शरीरिक समारोह के लिए आवश्यक पोषक तत्व होते हैं और कैलोरी अधिक नहीं होती हैं। बाकला फली विटामिन बी 1 या थिआमिन (thiamine), आयरन, तांबा, फास्फोरस, पोटेशियम तथा मैग्नीशियम का एक अच्छा स्रोत है। विटामिन बी 1, तंत्रिका तंत्र समारोह और ऊर्जा चयापचय के लिए महत्वपूर्ण होता है। वहीं आयरन खून में ऑक्सीजन परिवहन के लिए जिम्मेदार प्रोटीन का एक आवश्यक घटक है। ताबां आपकी रक्त वाहिकाओं, प्रतिरक्षा प्रणाली और हड्डियों हड्डियों को स्वस्थ रखता है।
Advertisements

फाबा बीन्स फोलेट और मैंगनीज का भी अच्छआ खाद्य श्रोत हैं। फोलेट, प्रतिरक्षा प्रणाली समारोह, हृदय स्वास्थ्य का समर्थन करता है और लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है। वहीं मैंगनीज कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और कोलेस्ट्रॉल के चयापचय के लिए आवश्यक होता है। हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने वाले पोषक तत्वों के अलावा फाबा बीन्स में आहार फाइबर की उच्च मात्रा होती है।
Advertisements
dil,hurt

लाइमा बीन्स जैसी फलियां, आहार फाइबर के दोनों प्रकार, घुलनशील और अघुलनशील का स्रोत होती हैं, लेकिन इनमें विशेष रूप से घुलनशील फाइबर अधिक मात्रा में होता है। घुलनशील फाइबर से युक्त खाद्य का सेवन, आपके रक्त में शर्करा और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बेहतर बनाने में मदद करता है। घुलनशील फाइबर, कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (LDL) कोलेस्ट्रॉल, अर्थात बुरे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में विशेष रूप से प्रभावी होता है।

बीन्स में फाइबर की भरपूर मात्रा होती है. फाइबर स्क‍िन के लिए तो फायदेमंद है ही साथ ही ये पाचन क्रिया को भी बूस्ट करने का काम करता है. अगर आपको कब्ज की समस्या है तो रोजाना बीन्स खाना फायदेमंद रहेगा
Advertisements

प्रेगनेंसी में बीन्स खाना बहुत फायदेमंद होता है. इसमें मौजूद तत्व मां के साथ ही बच्चे के विकास के लिए भी जरूरी हैं.

बीन्स में फाइटो-न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं. जो ब्रेस्ट कैंसर से बचाव में सहायक है. इसके साथ ही ये कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कम करने में मदद करता है.

आयुर्वेद से सम्बंधित वीडियो देखने के लिए  चरक आयुर्वेदा  यूट्यूब चैनल को  सब्सक्राइब  करना न भूलें |   धन्यबाद

Tags:

Advertisements
in hindi,बाकला का पौधा,बकला,बीन्स के प्रकार,मटर,सोयाबीन,बाकला दाल के फायदे,राजमा के लाभ,बाकला की खेती,चना,बीन्स की सब्जी इन हिंदी,बीन्स की खेती,बीन्स इन हिंदी,बल्लर की खेती,बोरा की सब्जी,सेम,
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *