बवासीर (पाइल्स) – कारण और उपाय | Piles Ke Karan aur Upay

बवासीर

बवासीर (पाइल्स) – कारण और उपाय | Piles Ke Karan aur Upay

Piles Ke Karan aur Upay | पाइल्स या बवासीर ऐसी बीमारी है जिसमें एनस के अंदरूनी हिस्से में या बाहर कुछ मस्से जैसे बन जाते हैं। इन मस्सों से कई बार खून निकलता और दर्द भी होता है। कभी-कभी जोर लगाने पर ये मस्से बाहर की ओर आ जाते है।

क्यों होती है पाइल्स की प्रॉब्लम?

वैसे तो खान-पान और लाइफस्टाइल के कारण अधिकांश लोगों को पाइल्स की प्रॉब्लम होती है लेकिन इसके पीछे आनुवांशिक यानि फैमिली हिस्ट्री भी हो सकती है।

पाइल्स होने की 5 वजह..

1.कब्ज- यह पाइल्स होने का सबसे बड़ा कारण है। पेट ठीक से साफ नहीं होने से एनस में मस्से पड़ सकते हैं।

2.सिटिंग वर्क- ज्यादा देर तक बैठे रहने का काम है तो भी पाइल्स की प्रॉब्लम हो सकती है।

3.प्रेग्नेंसी- प्रेग्नेंसी के दौरान डाइजेशन की प्रॉब्लम होती है। इससे कई महिलाओं को पाइल्स हो सकती है।

4.लाइफस्टाइल- सिगरेट, शराब, जंक फूड वगैरह ज्यादा लेने से भी डाइजेशन बिगड़ता है और पाइल्स हो सकते हैं।

5.फैमिली हिस्ट्री- फैमिली में किसी को ये प्रॉब्लम रही है तो नेक्स्ट जेनरेशन में भी इसके होने की संभावना होती है।

बवासीर (पाइल्स) दूर करने के उपाय

1.नीम की कोमल पत्तियों को घी में भूनकर उसमें थोड़ा सा कपूर डालकर पाइल्स के मस्सों पर लगाएं।

2.आधा चम्मच हरड़ पाउडर रोज़ गुनगुने पानी के साथ लेने से पाइल्स की प्रॉब्लम में फायदा होता है।

3.आक या मदार के दूध में हल्दी पाउडर मिलाकर मस्सों पर लगाएं। कुछ ही दिन में सुखकर गिर जाएंगे।

4.काली मिर्च और काला जीरा का पाउडर आधा चम्मच रोज़ शहद के साथ लेने से पाइल्स से राहत मिलती है।

5.लौकी के पत्तों को पीसकर पाइल्स के मस्सों पर रेग्युलर लगाने से कुछ ही दिनों में फायदा मिलाने लगता है।

6.तुलसी के पत्तों को पानी के साथ पीसकर मस्सों पर लगाने से जलन में राहत मिलती है। मस्से ठीक होते हैं।

7.आंवला पाउडर पानी में घोलकर रात भर मिट्टी के बर्तन में रखें। सुबह चिरचिटा की जड़ और मिश्री मिलाकर पिएं।

8.करेले के बीजों का महीन पाउडर शहद और सिरका मिलाकर मस्सों पर लगाने से 20 दिन में मस्से सूख जाते हैं।

9.चाय की पत्तियों को पीसकर पेस्ट बना लें और गर्म करके मस्सों पर लगायें। कुछ ही दिनों में मस्से सूख जाएंगे।

10.एक मुठ्ठी काले तिल को एक कटोरी दही के साथ रेग्युलर खाने से खुनी पाइल्स की प्रॉब्लम में फायदा होता है।

11.मेहंदी के पत्तों को पानी में पीसकर इसका पेस्ट मस्सों पर लगाने से कुछ ही दिन में मस्से सूख जाते है।

12.कच्ची प्याज को धीमी आंच पर भून लें। इसका पेस्ट बनाकर मस्सों पर लगाने से कुछ ही दिनों में फायदा होता है।

Tags:

बवासीर की अचूक दवा,पायल्स को घरेलु उपचार,फिशर के लक्षण,बवासीर का ऑपरेशन,बवासीर में परहेज,अर्श के लक्षण,बवासीर का अचूक इलाज,बवासीर का होम्योपैथिक इलाज,पाइल्स मेडिसिन इन पतञ्जलि,पाइल्स रोग,अर्श के उपचार,बवासीर मे क्या खाये,प्रसव के बाद बवासीर के लिए घरेलू उपचार,बवासीर का मंत्र,बवासीर में बादाम,

 

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *