बायॉप्सी Biopsy

बायॉप्सी, Biopsy, ऊतक, (टिष्यू) , जाँच , लैबोरेटरी ,

बायॉप्सी Biopsy

बायॉप्सी का अर्थ ऊतक (टिष्यू) के टुकड़ों को निकालना है, जिन्हें फिर जाँच के लिए लैबोरेटरी में भेजा जाता है। शल्य चिकित्सा के दौरान बायॉप्सी कैंसर या अन्य समस्याओं की जाँच करने के लिए की जा सकती है। षरीर के किसी भी भाग, जैसे त्वचा, कोई अंग या किसी गांठ की जांच की जा सकती है। बायॉप्सी के स्थल का पता लगाने के लिए एक्स-रे, सीटी स्कैन या अल्ट्रासाउंड किया जा सकता है। सर्जरी के दौरान बायॉप्सी की जा सकती है। आपका/आपकी डाक्टर अगली मुलाकात में आपकी बायॉप्सी के परिणामों की आपके साथ समीक्षा करेगा/करेगी और अगर उपचार की जरूरत होगी तो इसके बारे में आपसे बात करेगा/करेगी।यदि आपको दवाओं, खाद्य-पदार्थों या अन्य चीजों से एलर्जी है, तो जांच के पहले स्टाफ को बता दें।

Advertisements

Advertisements

यदि आप गर्भवती हैं, या आपको लगता है कि आप हो सकती हैं, तो जांच के पहले स्टाफ को बता दें।

जांच के लिए समय पर पहुंचें। आपसे अपाइंटमेंट समय से 30 मिनट पहले आने को कहा जा सकता है।

तैयारी करना  To Prepare

  • बायॉप्सी के एक सप्ताह पहले से एस्प्रिन या आइबूप्रोफेन (एडविल,मोट्रिन) न लें।

  • अपनी दवाएँ लेने के बारे में अपने चिकित्सक से सलाह लें, जिसमें नुस्खे वाली दवाएँ, नुस्खे के बिना काउंटर से मिलने वाली दवाएँ, हर्बल दवाएं, विटामिन और अन्य अनुपूरक शामिल हैं।

Advertisements

जांच के दौरान  During the Test

  1. आप एक मेज पर लेटेंगे/लेटेंगी और आपको अस्पताल का गाउन पहनना पड़ सकता है।

  2. बायॉप्सी स्थल का पता लगाने के लिए एक्स-रे, सीटी स्कैन या अल्ट्रासाउंड किया जा सकता है।

  3. उस स्थल को साफ किया जाता है।त्वचा में सुन्न करने वाली दवा डाली जाती है। इससे डंक लगने जैसा दर्द हो सकता है।

  4. जब स्थल सुन्न हो जाता है तो जांच वाले भाग में एक छोटी सुई डाली जाती है। ऊतक और कोषिकाएं निकाली जाती हैं। कुछ मामलों में जांच के लिए ऊतक या गांठ निकालनेके लिए एक छोटा चीरा लगाया जाता है।

  5. यदि आपको कोई तकलीफ हो, तो डॉक्टर को बताएं।

  6. दबाकर पट्टी की जाती है। यदि चीरा लगाया गया हो, तो टांके लगाने पड़ सकते हैं।

Advertisements

जांच के बाद  After the Test

  • आपको बायॉप्सी के स्थल पर नील, असुविधा या सूजन हो सकती है।

  • यदि जरूरत हो तो आप बिना नुस्खे के बिकने वाली ऐसी दर्दनिवारक दवा ले सकती हैं जिसमें एस्प्रिन न हो।

  • जरूरत के मुताबिक पहले 24 घंटों के लिए सूजन और नील कम करने के लिए उस स्थल पर बर्फ की थैली रखें। त्वचा पर सीधे बर्फ न लगाएं। बर्फ की थैली को तकिए के गिलाफ या तौलिए में लपेटें। प्रत्येक घंटे में 15 मिनट तक बर्फ लगाएं।

  • मेहनत वाली गतिविधियों और 5 पौंड से अधिक वजन उठाने से 24 घंटे तक बचें। यदि अन्य कोई निर्दे श न हों तो आप सामान्य गतिविधियां MAN कर सकते हैं।

  • जांच के परिणाम आपके डॉक्टर को भेज दिए जाते हैं। आपके डॉक्टर परिणामों को आपके साथ साझा करेंगे।

Advertisements

यदि ऐसा हो तो अपने डॉक्टर को फोन करे:-

  • बायॉप्सी स्थल से खून बहना, सूजन, लाली, गर्मी या रिसाव बढ़ना

  • बिना नुस्खे के बिकने वाली दवा से दर्द कम न होना

  • यदि आपके कोई प्रश्न या चिंताएं हों तो अपने डॉक्टर या नर्स से बात करें।

  • Talk to your doctor or nurse if you have any questions or concerns.

    Tags:

    biopsy report,biopsy test cost,types of biopsy,biopsy test video,ब्रैस्ट बीओप्सी इन हिंदी,लिवर बीओप्सी,किडनी बायोप्सी क्या है,बायोप्सी गर्भाशय,कैंसर की जांच कैसे होती है,बायोप्सी परिभाषा,किडनी बायोप्सी,एन्डोस्कोपी,ब्रोंकोस्कोपी टेस्ट प्राइस,रोगी निदान साधन,बायोप्सी अर्थ,फ़नाक टेस्ट फॉर कैंसर,एंडोमेट्रियल पोलिप के लक्षण,एंडोमेट्रियल बायोप्सी,

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *