मसूड़ों से खून रोकने के घरेलू उपचार | Home remedies for bleeding gums

मसूड़ों ,खून ,रोकने ,घरेलू उपचार

मसूड़ों से खून रोकने के घरेलू उपचार |

Home remedies for bleeding gums

मसूड़ों में खून रोकने के लिए घरेलू उपचारों में खट्टे फल, दूध, कच्ची सब्जियों, बेकिंग सोडा, लौंग, लौंग का तेल, पुदीना तेल, कैलेंडुला पत्ती चाय, कैमोमाइल चाय, नमकीन, मसूड़ों में मालिश, धूम्रपान छोडऩा और वसायुक्त भोजन आदि शामिल हैं। मसूड़ों में खून एक ऐसी चिकित्सीय स्थिति है, जिसमें मसूड़ों में सूजन दिखाई देती है और ब्रश करने और किसी कड़े भोजन के खाने के दौरान अक्सर खून आ जाता है। ऐसा आमतौर पर मुंह की खराब स्वच्छता के कारण होता है, लेकिन यह भी गर्भावस्था की तरह अन्य स्वास्थ्य की स्थिति जैसे विटामिन की कमी, स्कर्वी, ल्यूकेमिया या संक्रमण के किसी भी प्रकार का संकेतक होता है। कुछ घरेलू उपचारों का प्रयोग कर के आप इस दिक्कत से निजाद पा सकते हैं।

(1) बेकिंग सोडा :-

बेकिंग सोडा माइक्रोइंवायरनमेंट तैयार करके मुंह में ही बेक्टीरिया को मार देता है और इसे आप मसूड़ों पर उंगली से लगा सकते हैं।

(2) लौंग :-

लौंग को या तो आप मुंह में रख सकते हैा या धीरे-धीरे चबा सकते हैं या लौंग के तेल से मसूड़ों पर मालिश कर सकते हैं। यह एक प्राचीन पद्धति है और बेहद आसान घरेलू नुस्खा है, जो सभी प्रकार की दांतों की समस्याओं से निजात दिलाता है।

(3) नमक का पानी :-

नमक का पानी ब्रश करने के बाद हलके गर्म पानी में नमक डालकर कुल्ला करने से आराम मिलता है। मसूड़ों में खून रोकने का यह बहुत अच्छा घरेलू नुस्खा है।

(4)धुम्रपान न करें:-

धूम्रपान न करें धूम्रपान करने से मुंह में अवायवीय वातावरण बन जाता है , जो वेक्टीरिया के पैदा होने के लिए अच्छा होता है। इसलिए अपने मुंह को वेक्टीरिया मुक्त रखने के लिए आपको धूम्रपान नहीं करना चाहिए।

(5) वसायुक्त भोजन बंद करें:-

 वसायुक्त, तीखा और ज्यादा आहार लेने से दांतों के बीच स्थान पर खाना फंस जाता है जो सडऩे लगता है और आगे चलकर यह मसूड़ों में खून की वजह बन जाता है या फिर गिंगिवाइटिस हो जाता है। जितना हो सके उतना ऐेस वसा युक्त भोजन से बचें।

(6) दूध :-

दूध में भी कैल्शियम का एक समृद्ध स्रोत है, जिसकी नियमित रूप से जरूरत होती है आपके मसूड़ों को भरने के लिए। इसलिये मसूड़ों में खून रोकने के लिए नियमित आधार पर दूध लिया जाना चाहिए।

(7) कच्ची सब्जियां :-

कच्ची सब्जियों को चबाने से दांत साफ होते हैं और मसूड़ों में रक्त परिसंचरण को प्रेरित करता है इसलिए प्रतिदिन कच्ची सब्जियां खाने की आदत डाल लेनी चाहिए।

(8)क्रैनबेरी और गेहूँ की घास का रस :-

क्रैनबेरी या गेहूँ की घास का रस उन लोगों को राहत दे सकता है, जिनके मसूड़ों से खून बहता है। कैनबेरी के जूस में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो मसूड़ों से बेक्टीरिया को दूर कर देता है।

(9) कपूर, पिपरमिंट का तेल:-

कपूर और पिपरमिंट के तेल का इस्तेमाल करने से आप अपने मुंह की ताजग़ी और स्वच्छता बनाए रखने के लिए कर सकते हैं।

(10) मालिश :-

मालिश ब्रश करने के बाद मसूड़ों पर उंगली से धीरे-धीरे मालिश करने से उसमें रक्स संचार अच्छा होता है। इससे मसूड़े मजबूत होते हैं और रक्त आना बंद हो जाता है।

Tags: –

थूक में खून आना , मसूड़ों की बीमारी , दातो से खून , पायरिया का घरेलू उपचार , मसूड़ों की समस्याओं , पायरिया के लिए मंजन , पायरिया का सफल इलाज , मसूड़ों में मवाद ,masudo me khun aana ,masudo ki sujan in hindi ,danto se khoon ka ilaj ,masooron se khoon aana , danton se khoon ka ilaj ,teeth se khoon aana ,teeth bleeding solution in hindi ,payriya ka desi ilaj ,masudo ka cancer ,Gum Bleeding ,मसूड़ों से खून ,मसूड़ों से खून आना इन हिंदी ,थूक में खून आना ,पायरिया का घरेलू उपचार ,दातो से खून ,पायरिया के लिए मंजन ,पायरिया का सफल इलाज ,मसूड़े फूलना
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *