दिल्ली का लाल किला लाल कोट है | Dehli Ka Laal Kila Laal Kot Hai

दिल्ली का लाल किला लाल कोट है | Dehli Ka Laal Kila Laal Kot Hai

दिल्ली का नाम राजा ढिल्लू के “दिल्हीका”(800 ई.पू.) के नाम से माना गया है, जो मध्यकाल का पहला बसाया हुआ शहर था, जो दक्षिण-पश्चिम सीमा के पास स्थित था। जो वर्तमान में महरौली के पास है। यह शहर मध्यकाल के सात शहरों में सबसे पहला था। इसे योगिनीपुरा के नाम से भी जाना जाता है, जो योगिनी (एक् प्राचीन देवी) के शासन काल में था।

लेकिन इसको महत्व तब मिला जब 12वीं शताब्दी में पांडववंशी अनंगपाल तोमर ने अपना तोमर राजवंश लालकोट  से चलाया, जिसे बाद में अजमेर के चौहान क्षत्रिय राजा ने मुहम्मद गोरी से जीतकर इसका नाम किला राय पिथौरा रखा। 1192 में जब क्षत्रिय राजा पृथ्वीराज चौहान मुहम्मद गोरी से तराएन का युद्ध में पराजित हो गये थे, तब गोरी ने अपने एक दास को यहा का शासन संभालने हेतु नियुक्त किया। वह दास कुतुबुद्दीन ऐबक था, जिसने 1206 से दिल्ली सल्तनत में दास वंश का आरम्भ किया। रोड़ जाति के लोगो के साथ अत्याचार हुआ बादली छिन ली गई जो रोड़ो का गढ था। राजा महलसी को मार दिया गया| इन सुल्तानों में पहले सुल्तान कुतुबुद्दीन ऐबक जिसने शासन तंत्र चलाया इस दौरान उसने कुतुब मीनार बनवाना शुरू किया जिसे एक उस शासन काल का प्रतीक माना गया है। उसने प्राथमिकता से हिन्दू मन्दिरों एवं इमारतों पर कब्जा कर के या तोड़ कर उनपर मुस्लिम निर्माण किये। इसी में लालकोट में बनी ध्रुव स्तम्भ को कुतुब मीनार में परिवर्तन एवं कुव्वत उल इस्लाम मस्जिद्, आदि का निर्माण भी शामिल है।

बाद में उसके वंश के बाद्, खिलजी वंश के अलाउद्दीन खिलजीने यहाँ अलाई मीनार बनवानी आरम्भ की, जो कुतुब मीनार से दोगुनी ऊँची बननी प्रस्तावित थी, परन्तु किन्हीं कारणवश नहीं बन पायी। उसी ने सीरी का किला और हौज खास भी बनवाये।

 
Advertisements

************ पीडीऍफ़ बुक (pdf book)  **************

 

 

Advertisements

Book Name :- दिल्ली का लाल किला लाल कोट है (Dehli Ka Laal Kila Laal Kot Hai)

Writer :- श्री पुरुषोत्तम नागेश ओक

Publicer :- हिंदी साहित्य सदन नई दिल्ली

Tags:-

Pdf,ebook,pdf book,pdf books,पीडीऍफ़ बुक, इ लाइब्रेरी इन हिंदी pdf,फ्री हिंदी बुक्स,हिंदी की पुस्तकें,धार्मिक पुस्तकें pdf,हिंदी ग्रंथ अकादमी बुक्स pdf,हिंदी उपन्यास pdf free download,हिंदी साहित्य की पुस्तकें pdf,hindi pdf, pdf books in hindi, हिंदी की पुस्तकें, प्राचीन पुस्तकें, प्राचीन भारतीय ग्रन्थ, प्राचीन भारतीय इतिहास के स्रोत का वर्णन करें, भारतीय इतिहास के मुख्य स्रोत कौन से हैं, दिल्ली का लाल किला लाल कोट है ,Dehli Ka Laal Kila Laal Kot Hai,
Share this:
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments