प्रदरान्तक लौह के फायदे , प्रयोग, खुराक और नुकसान | Pradarantak Lauh ke fayde

प्रदरान्तक लौह के फायदे , प्रयोग, खुराक और नुकसान | Pradarantak Lauh ke fayde | Pradarantak Lauh benefits,uses,dosage and disadvantages in hindi

यह प्रदरान्तक लौह टैबलेट के रूप में एक आयुर्वेदिक औषधि है। जिसका उपयोग सभी प्रकार के प्रदर रोग कटि (कमर) शूल, योनि शूल,पेशाब में रुकावट व जलन,रक्ताल्पता सहित कई अन्य व्याधियों के उपचार के लिए किया जाता है। प्रदरान्तक लौह में लौह भस्म, ताम्र भस्म, शुद्ध हरताल, वंगभस्म, अभ्रक भस्म, कौड़ी भस्म तथा त्रिकटु, त्रिफला, चित्रकमूल समेत अन्य कई उपयोगी जड़ी-बूटियाँ है। प्रदरान्तक लौह, को सभी प्रकार के प्रदर रोगों में प्रयोग किया जाता है।

प्रदरान्तक लौह के घटक | Ingredients of Pradarantak Lauh in Hindi

1.लौह भस्म 1 Part

2.ताम्रा भस्म 1 Part

3.हरितला भस्म 1 Part

4.वंग भस्म 1 Part

5.अभृ (अभ्रक ) भस्म 1 Part

6.वर्तिका (कपर्दिका ) भस्म 1 Part

7.सुण्ठी (Rz.) 1 Part

8.मारिचा (Fr.) 1 Part

9.पिप्पली (Fr.) 1 Part

10.हरीतकी (P.) 1 Part

11.बिभीतका (P.) 1 Part

12.आमलकी (P.) 1 Part

13.एरंड (Rt.) 1 Part

14.विडंगा (Fr.) 1 Part

15.सैंधव लवण 1 Part

16.समुद्र लवण 1 Part

17.विड लवण 1 Part

18.सुवर्चला लवण 1 Part

19.औद्भिदा लवण 1 Part

20.छविका (चव्य ) (St.) 1 Part

21.पिप्पली (Fr.) 1 Part

22.शंख भस्म 1 Part

23.वासा (Rz.) 1 Part

24.हवुशा (हाउबेर ) (Fr.) 1 Part

25.कूठ (Rt.) 1 Part

26.शाठी (Rz.) 1 Part

27.पाठा (Rt ./Pl.) 1 Part

28.देवदारु (Ht . Wd.) 1 Part

29.इला (Sukshmaila) (Sd.) 1 Part

30.विधारा (St.) 1 Part

प्रदरान्तक लौह बनाने की विधि :

काष्टौषधियों को अलग-अलग कूट पीस कर चूर्ण करके, सब चूर्ण, समान मात्रा में और इसी मात्रा में भस्में ले कर सबको मिला लें और खरल में डाल कर, पानी का छींटा देते हुए 5-6 घण्टे घुटाई करें, फिर आधाआधा ग्राम वज़न की गोलियां बना लें।

 
Advertisements

प्रदरान्तक लौह के फायदे और उपयोग : Pradarantak Lauh benefits and Uses (labh) in Hindi

प्रदर रोग में लाभकारी प्रद्रांतक लोह Pradarantak Loh benefits in likoria in hindi

प्रद्रांतक लोग का सबसे प्रमुख कार्य महिलाओं का प्रदर रोग ठीक करना होता है । प्रद्रांतक लोह महिलाओं के प्रदर रोग का प्रबल शत्रु है । यदि इस औषधि को किसी योग्य एवं अनुभवी चिकित्सक की देखरेख में महिला को सेवन कराया जाए तो कितना ही पुराना प्रदर रोग क्यों ना हो बिल्कुल ठीक हो जाता है ।dcgyan

 मासिक धर्म की गड़बड़ी में लाभदायक प्रद्रांतक लोह Pradarantak Loh benefits in hindi

प्रद्रांतक लोह के नियमित सेवन से महिलाओं की मासिक धर्म की गड़बड़ी जैसे मासिक धर्म के समय बहुत अधिक दर्द होना या अनियमित रूप से मासिक धर्म का होना आदि में लाभ मिलता है ।

 एनीमिया में लाभकारी प्रद्रांटक लोह Pradarantak Loh benefits in hindi

प्रद्रांतक लोह में लोहा भसम प्रचुर मात्रा में होता है । इसलिए इस दवा के सेवन से महिलाओं में रक्ताल्पता अर्थात एनीमिया की समस्या में भी लाभ मिलता है । महिलाओं को एक नई उर्जा मिलती है तथा उनके चेहरे पर कांति आ जाती है ।

 ल्यूकोरिया के कारण आई कमजोरी में लाभदायक प्रद्रांतक लोह Pradarantak Loh benefits in hindi

प्रद्रांतक लोह श्वेत प्रदर अर्थात लिकोरिया के कारण आई हुई कमजोरी में फायदा करता है । प्रद्रांतक लोह में लोह भस्म के साथ-साथ अन्य कई औषधीया होती हैं जो महिलाओं को ताकत प्रदान करती हैं ।

 सभी प्रकार के दर्द मिटाए प्रदरान्तक लौह का उपयोग

प्रदरान्तक लौह के सेवन से रक्त पित्त, कुक्षि (कोख) शूल, कटि (कमर) शूल, योनि शूल, सब प्रकार के शूल (दर्द), मन्दाग्नि, अरुचि, रक्ताल्पता, पेशाब में रुकावट व जलन, श्वास-कास आदि व्याधियां दूर होती हैं।

 पुराने से पुराने प्रदर रोग में प्रदरान्तक लौह के इस्तेमाल से फायदा

काफ़ी लम्बे समय तक प्रदर रोग बना रहे और इसके प्रभाव से आमाशय, यकृत प्लीहा आदि अंग निर्बल हो गये हों, मांसपेशियों, फुफ्फुस, वातवाहिनियों में क्षीणता आ गई हो, गर्भाशय व बीज कोष (Overies) शिथिल हो गये हों, अग्निमांद्य, अरुचि, सिर दर्द, कफ वाली खांसी, थोड़े ही परिश्रम से हृदय की धड़कन और श्वास के वेग का बढ़ जाना, कमर दर्द आदि के अलावा सफ़ेद, पीला, नीला, लाल, चिपचिपा किसी भी प्रकार का स्राव युक्त प्रदर हो, इस प्रदरान्तक लौहके सेवन से दूर हो जाता है।

 
Advertisements

प्रदरान्तक लौह के सेवन की मात्रा (How Much to Consume Pradarantak Lauh?)

1 गोली, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।

प्रदरान्तक लौह के सेवन का तरीका (How to Use Pradarantak Lauh?)

इसे एक-एक गोली सुबह-शाम घी, मिश्री और शहद के साथ लेनी चाहिए।

घी और मिश्री एक-एक भाग और शहद तीन भाग लेकर मिला लें यानी अगर घी और पिसी मिश्री 2-2 ग्राम लें तो शहद 6 ग्राम लें। गोली इस मिश्रण में मिला कर चाट लें।

Advertisements

प्रदरान्तक लौह के नुकसान (Side Effects of Pradarantak Lauh):-

यदि किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में लिया जाए तो इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है ।

प्रद्रांतक लोह इस्तेमाल करते समय एक बात का विशेष ध्यान रखें । यदि 3 माह तक सेवन करने के पश्चात भी महिलाओं का रक्त प्रदर या श्वेत प्रदर ठीक ना हो तो किसी योग्य चिकित्सक या महिला चिकित्सक से संपर्क करके टेस्ट जरूर करवा लें । क्योंकि प्रद्रांतक लोह इस्तेमाल करने के पश्चात भी यदि रक्त प्रदर या श्वेत प्रदर ठीक नहीं होता है तो इसका अर्थ हो सकता है शरीर में कोई गंभीर समस्या उत्पन्न हो गई हो । जैसे गर्भाशय में फोड़ा होना या कैंसर होना इत्यादि । ऐसी स्थिति में बिल्कुल भी देरी ना करें और अपने चिकित्सक से संपर्क अवश्य करें ।

प्रदरान्तक लौह कैसे प्राप्त करें ? ( How to get Pradarantak Lauh)

यह योग इसी नाम से बना बनाया आयुर्वेदिक औषधि विक्रेता के यहां मिलता है।

कहाँ से खरीदें  :-  अमेज़ॉन,नायका,स्नैपडील,हेल्थ कार्ट,1mg Offers,Medlife Offers,Netmeds Promo Codes,Pharmeasy Offers,

ध्यान दें :- Dcgyan.com के इस लेख (आर्टिकल) में आपको प्रदरान्तक लौह के फायदे, प्रयोग, खुराक और नुकसान के विषय में जानकारी दी गई है,यह केवल जानकारी मात्र है | किसी व्यक्ति विशेष के उपयोग करने से पहले चिकित्सक से परामर्श करना आवश्यक है |

Tags:-

Ayurveda,Ayurved,Health,Health Benefits,Natural Remedies,Home Remedies,Ayurvedic Treatment,Ayurvedic medicine,Maharishi Ayurveda,dcgyan,dcgyan.com, Pradarantak Lauh ke fayde,प्रदरान्तक लौह के फायदे,प्रदरान्तक लौह प्रयोग,प्रदरान्तक लौह की खुराक, प्रदरान्तक लौह के नुकसान,प्रदरान्तक लौह के सेवन की मात्रा, प्रदरान्तक लौह के सेवन का तरीका,प्रदरान्तक लौह के नुकसान,प्रदरान्तक लौह कैसे प्राप्त करें, Pradarantak Lauh benefits,Pradarantak Lauh uses,Pradarantak Lauh dosage, Pradarantak Lauh disadvantages,health benefits of Pradarantak Lauh,health benefits of Pradarantak Lauh in hindi ,in hindi,How Much to Consume Pradarantak Lauh,How to Use Pradarantak Lauh, Side Effects of Pradarantak Lauh,How to get Pradarantak Lauh,Pradarantak Lauh,प्रदरान्तक लौह,

अन्य लेख (Other Articles)

Share this:
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments